(रिपोर्ट ईश्वर शुक्ला)                                    समाचार भास्कर/ऋषिकेश- प्रकृति को समर्पित उत्तराखंड के लोकपर्व हरेला को निर्मल आश्रम ज्ञान दान एकेडमी परिसर में संस्था के व्यवस्थापक संत जोध सिंह महाराज के सानिध्य में स्कूल परिसर व अन्य जगहों पर फलदार फूलदार  और शोभदार दर्जनों पेड़ों का वृक्षारोपण किया गया कार्यक्रम से पहले गुरु नानक निर्मल संगीत एकेडमी के छात्रों ने गुरबाणी पाठ के साथ सावन आया हे सखी नानक सुख सावन सुहावनी संगीत के साथ वायलन वादन राग जौनपुरी पेश कर वृक्षारोपण की शुरुआत की गई साथ ही स्कूली बच्चों द्वारा स्लोगन के माध्यम से लोगों को जागरूक भी किया गया।


सोमवार को खैरी कला स्थित निर्मल आश्रम ज्ञान दान एकेडमी स्कूल परिसर में वृक्षारोपण के कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसका शुभारंभ संत जोध सिंह महाराज के द्वारा किया गया तत्पश्चात गुरु नानक निर्मल संगीत एकेडमी के छात्रों के द्वारा गुरबाणी पाठ के साथ सावन आया है सखी नानक सुख सावन सुहावनी संगीत और छात्रों के द्वारा वायलिन वादन राग जौनपुरी भी पेश किया गया । निर्मल आश्रम ज्ञान दान एकेडमी परिसर में पवित्र सावन मास के सोमवार को देखते हुए संत जोध महाराज द्वारा बिल्वपत्र का पेड़ लगाकर पौधारोपण की शुरुआत की गई जिसके बाद स्कूल के प्रधानाचार्य वह अन्य कर्मचारियों तथा स्कूली बच्चों द्वारा विभिन्न प्रकार के फलदार पुष्प दार के साथ विभिन्न प्रकार के पौधों का रोपण हुआ । इस दौरान संत जोध सिंह महाराज ने हरेला पर्व को सुख समृद्धि शांति एवं पर्यावरण संरक्षक का प्रतीक बताते हुए बताया कि उत्तराखंड का लोकपर्व हरेला राज्य में 17 जुलाई 2023 सोमवार को मनाया जा रहा है इसी के साथ उत्तराखंड में सावन महीने की शुरुआत हो जाएगा । गौरतलब है कि देशभर में सावन माह की शुरुआत चार जुलाई को हो गई है हरेला प्रकृति से जुड़ा हुआ पर्व है । इस दिन पहाड़ में रहने वाले किसान हरेला के पौधे को काटकर देवी-देवताओं को समर्पित करते हैं और अच्छी फसल की कामना अपने ईष्ट देवता से करते हैं । वहीं स्कूली बच्चों द्वारा लोगों को जागरूक करने के माध्यम से स्लोगन बनाया गया जिसमें  आओ मिल पेड़ लगाए, प्रदूषण पर रोक लगाए । वातावरण को स्वच्छ बनाकर, हम जीवन को स्वच्छ बनाये । पेड़ न कोई काटने पाए, जंगल अब न घटने पाए। आओ धरा को सुंदर बनाए, हम सब इक-इक वृक्ष लगाए आदि स्लोगन रहे । कार्यक्रम का समापन संत जोध सिंह महाराज द्वारा कार्यक्रम में उपस्थित सभी लोगों को प्रसाद देकर किया गया ।



पौधारोपण के दौरान यह लोग रहे उपस्थित ।
एजुकेशन डायरेक्टर एसएन सूरी एनजीए की प्रिंसिपल डॉ सुनीता शर्मा एनडीएस की प्रिंसिपल ललिता कृष्णस्वामी प्रधानाध्यापिका अमृतपाल डंग कोऑर्डिनेटर सोहन सिंह कैंतूरा वरिष्ठ खेल प्रशिक्षक दिनेश पैन्यूली प्रशासनिक अधिकारी विनोद विजलवान ज्योति वर्मा सुनीता नेगी गुरु नानक निर्मल संगीत एकेडमी से डॉक्टर गुरजिंदर सिंह जोहल संगीत शिक्षक प्रदीप कुमार निर्मला इंस्टिट्यूट से जनरल मैनेजर अजय शर्मा आत्म प्रकाश कोच्चर दीपक रयाल ओमकर सिंह संजय छोकरा निर्मल सिंह बृजेश कुमार हरविंदर सिंह दिनेश शर्मा गुरजिंदर सिंह आदि तमाम सेवादार और कर्मचारी उपस्थित रहे ।


उत्तराखंड में 15 दिन की देरी से क्यों शुरू हो रहा है सावन? जानिए क्या है हरेला त्योहार से कनेक्शन।
उत्तराखंड का लोकपर्व हरेला राज्य में आज 17 जुलाई  सोमवार को धूमधम के साथ मनाया गया । इसी के साथ उत्तराखंड में सावन महीने की शुरुआत भी हो गयी ही ।गौरतलब है कि देशभर में सावन माह की शुरुआत चार जुलाई को हो गई है हरेला प्रकृति से जुड़ा पर्व है इस दिन पहाड़ में रहने वाले किसान हरेला के पौधे को काटकर देवी-देवताओं को समर्पित करते हैं और अच्छी फसल की कामना अपने ईष्ट देवता से करते हैं ।






Share To:

Post A Comment: