(रिपोर्ट@ईश्वर शुक्ला)                                ऋषिकेश/समाचार भास्कर - गुरु नानक निर्मल संगीत एकेडमी को दो साल बाद भातखंडे संगीत विद्यापीठ लखनऊ से मान्यता प्राप्त हो गई है। अब विद्यार्थी प्रथमा मध्यमा विशाल संगीत की शिक्षा में डिग्री एकेडमी से कर सकेंगे। 

    गुरु नानक निर्मल संगीत एकेडमी व गुरबाणी शिक्षा केन्द्र का उदघाटन महंत बाबा राम सिंह और संत बाबा जोध सिंह महाराज निर्मल आश्रम ऋषिकेश द्वारा किया गया। विद्यार्थियों को अच्छी व उच्च संगीत शिक्षा शास्त्रीय संगीत गुरमत संगीत व वाद्य यंत्रों का ज्ञान करवाने व गुरबाणी शिक्षा के लिए अकादमी को खोला गया। गुरु नानक निर्मल संगीत एकेडमी के विद्यार्थियों ने अनेकों उपलब्धियां संगीत के क्षेत्र में हासिल की। ऋषिकेश में संगीत शिक्षा का स्तर ऊंचा करने के लिए 2020 में भातखंडे संगीत विद्यापीठ लखनऊ से मान्यता प्राप्त के लिए आवेदन किया गया। गुरु नानक निर्मल संगीत एकेदनी को भातखंडे संगीत विद्यापीठ लखनऊ से मान्यता प्राप्त हो गई है। अब विद्यार्थी प्रथमा संगीत, मध्यमा संगीत, ‌‌विशारद संगीत आदि की शिक्षा व डिग्री अकादमी से प्राप्त कर सकते है। भातखंडे संगीत विद्यापीठ लखनऊ की राजिस्टरार कु. मीरा माथुर ने एकेडमी का निरीक्षण कर मान्यता दे दी है।ऋषिकेश व उतराखंड के विद्यार्थी अब गुरु नानक निर्मल संगीत अकादमी में संगीत की शिक्षा प्राप्त कर सकते है। भातखंडे संगीत विद्यापीठ की सारी परीक्षायें गुरु नानक निर्मल संगीत अकादमी खैरींकला ऋषिकेश में होगीं। जिसमें विद्यार्थी रेगुलर व प्राइवेट दोनों स्तर से शिक्षा प्राप्त कर सकते हैं। जिसमें  सितार, वाइलन, तबला हरमोनियम, गायन वादन, नृत्य, इसराज, कथक, भरतनाट्यम् आदि के सभी कोर्स उपलब्ध है। गुरुनानक निर्मल संगीत अकादमी भातखंडे संगीत विद्यापीठ की रजिस्ट्ररार मीरा माथुर का बहुत धन्यवाद करता है। इस शुभ अवसर पर महंत बाबा राम सिंह महाराज व संत बाबा जोध सिंह महाराज ने सभी को आशीर्वाद दिया व उज्ज्वल भविष्य की कामना की। इस मौके पर निर्मल आश्रम ज्ञान दान अकादमी की प्रधानाचार्या डॉ.सुनीता शर्मा, मुख्याध्यापिका अमृतपाल डंग, निर्मल आश्रम दीपमाला पब्लिक स्कूल की प्रधानाचार्या ललिता कृष्णा स्वामी, निर्मल आई इंस्टीट्यूट के प्रबंधक अजय शर्मा निर्मल आश्रम हॉस्पिटल के प्रबंधक स. करमजीत सिंह,  विनोद कुमार बिजलवाण, दिनेश शर्मा, गुरजिंदर सिंह ,अशोक जोशी गुरु नानक निर्मल संगीत अकादमी के प्रबंधक डॉ. गुरजिंदर सिंह, तबला वादक संतोष कुमार, हरविंदर सिंह, शमशेर सिंह आदि उपस्थित रहे।

Share To:

Post A Comment: