(रिपोर्ट@ईश्वर शुक्ला)                                          ऋषिकेश/समाचार भास्कर - मुनीकीरेती नगर पालिका क्षेत्र अंतर्गत भ्रष्टाचार के खिलाफ स्थानीय निवासी आशीष गौड़ ने आमरण अनशन शुरू कर दिया है। इस बार मामला खारा स्रोत नदी और सड़क किनारे खड़े वाहनों से अवैध रूप से पार्किंग शुल्क वसूले जाने का है। मामले में आशीष गौड़ ने पुलिस से लेकर डीएम तक को शिकायत भी करी बावजूद इसके पार्किंग ठेकेदार के खिलाफ कोई एक्शन नहीं लिया गया। जिससे नाराज होकर आशीष गौड़ ने अब आमरण अनशन शुरू कर दिया है। आशीष गौड़ का दावा है कि जब तक अवैध पार्किंग शुल्क वसूलने वाले ठेकेदार के खिलाफ प्रशासन कार्रवाई नहीं करेगा। तब तक वह अपने आमरण अनशन पर डटे रहेंगे। 


        रविवार को मुनी की रेती निवासी आशीष गौड़ ने खारा स्रोत शराब के ठेके के पास सड़क पर आमरण अनशन करने के लिए अपना डेरा जमा दिया। मौके पर नगर पालिका और प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी कर प्रदर्शन भी किया। आरोप लगाया कि शिकायत के बावजूद प्रशासन उनकी मांग पर ध्यान देने को तैयार नहीं है। जिससे प्रशासन को तो राजस्व का नुकसान हो ही रहा है ठेकेदार के साथ स्थानीय प्रशासन की मिलीभगत भी नजर आ रही है। आशीष गौड़ ने बताया कि खारा स्रोत नदी और सड़क किनारे खड़े वाहनों से पार्किंग शुल्क अवैध रूप से वसूला जा रहा है। जबकि ठेकेदार के साथ नगर पालिका के द्वारा किए गए एग्रीमेंट में साफ लिखा है कि नदी और सड़क किनारे खड़े वाहनों से पार्किंग शुल्क नहीं वसूला जा सकता। इस संबंध में उन्होंने पहले डीएम टिहरी और उसके बाद मुनी की रेती थाना पुलिस को शिकायत पत्र देकर कार्रवाई की मांग की। मगर उनकी मांग पर कोई ध्यान नहीं दिया गया। बदस्तूर अवैध पार्किंग शुल्क वसूले जाने का खेल चल रहा है। मजबूरी में उन्हें प्रशासन का ध्यान अपनी मांग की ओर आकर्षित करने के लिए आमरण अनशन पर बैठना पड़ा है। बताया कि जब तक उनकी मांग पर ध्यान देकर प्रशासन ठेकेदार के खिलाफ कार्रवाई नहीं करता तब तक उनका आमरण अनशन जारी रहेगा। अनशन के दौरान यदि उनकी जान भी चली जाए तब भी रहे पीछे नहीं हटेंगे।

Share To:

Post A Comment: