(रिपोर्ट @ संवाददाता)

ऋषिकेश/समाचार भास्कर - शिवपुरी रेंज के ब्रह्मपुरी पुल के पास दो परिवारों के द्वारा चार दशक से आरक्षित वन भूमि पर अतिक्रमण किया हुआ है। अतिक्रमण भी कच्चा नहीं बल्कि पक्के घर बनाए गए हैं। ऐसे में स्थानीय निवासी ईश्वर शुक्ला ने वन विभाग को शिकायत देकर कार्रवाई की मांग की है। 

प्रभागीय वन अधिकारी नरेंद्रनगर वन प्रभाग मुनी की रेती जिला टिहरी गढ़वाल को ईश्वर शुक्ला ने सौंपे शिकायती पत्र में बताया कि ब्रह्मपुरी पुल के पास 2 लोगों के द्वारा आरक्षित वन भूमि पर पिछले करीब चार दशक से अतिक्रमण कर कब्जा किया हुआ है। अतिक्रमण के रूप में पूरा घर बनाया हुआ है। नाम का खुलासा करते हुए बताया कि पहला व्यक्ति का नाम संग्राम सिंह नेगी जो वन विभाग नरेंद्र नगर में चतुर्थ श्रेणी का कर्मचारी है। दूसरा सत्य सिंह नेगी जो वन विभाग से रिटायर कर्मचारी है। इन दोनों ने आरक्षित वन भूमि पर कई बीघा भूमि पर कब्जा कर घर बना लिया है। आरोप लगाया कि वन आरक्षित भूमि पर अधिकारियों की सांठगांठ से वन विभाग के कर्मचारी ही कब्जा कर रहे हैं। नेशनल हाईवे 58 पर शिवपुरी रेंज के अंतर्गत जीएनआर की पर्ची कटती है। जहां दर्जनों अवैध तरीके से दुकानें वन विभाग की भूमि पर लगी हुई है। ईश्वर शुक्ला ने वन विभाग से मामले में सभी कब्जेदारों पर जल्द से जल्द कार्रवाई करने की मांग की है। ईश्वर शुक्ला ने बताया कि यदि उनकी मांग पर विभाग ध्यान नहीं देता तो वह मामले में संबंधित दस्तावेज एकत्रित कर कोर्ट की शरण में जाने को मजबूर होंगे। बताया वन विभाग गरीबों को तो अतिक्रमण बता कर हटा रहा है, लेकिन अपने ही कर्मचारियों और कई सफेदपोश नेताओं की शह पर राजनीतिक लोगों को वन विभाग की भूमि से हटाने की जहमत नहीं उठा रहा है। ऐसे कई मामले क्षेत्र में है। जिसकी जानकारी उनके पास है। जिसे जल्दी ही वह सार्वजनिक करेंगे।


रटा रटाया जवाब जल्द होगी कार्रवाई। 

इस संबंध में उप प्रभागीय वन अधिकारी डीपी बलूनी का कहना है कि इसमें कोई दो राय नहीं है कि यह भूमि रिजर्व फॉरेस्ट की भूमि नहीं है, बताया कि हमने यहां पर जांच किया जांच में यह रिजर्व फॉरेस्ट की भूमि ही निकली। हमारे द्वारा भूमि से संबंधित दस्तावेज मांगने पर उन्होंने कोई संतुष्ट दस्तावेज नहीं उपलब्ध कराएं। इसका मतलब वह अवैध रूप से कब्जा कर के रह रहे हैं। उप प्रभागीय वन अधिकारी ने कहा कि जल्दी ही इनमें विभागीय कार्रवाई करके बेदखली करने की कार्रवाई कराई जाएगी।

Share To:

Post A Comment: