ऋषिकेश/नरेंद्र नगर/समाचार भास्कर -  उत्तराखंड में लगातार बढ़ रहे कोरोना के मरीजों की संख्या को देखते हुए शासन प्रशासन पहले से ही परेशान हैं। उस पर संक्रमित मरीजों के कोविड केयर सेंटर से भागने के सिलसिले ने प्रशासन की नींद उड़ा कर रख दी है। जनपद टिहरी गढ़वाल क्षेत्र में दूसरी बार केयर सेंटर से संक्रमित मरीजों के भागने का मामला सामने आया है। 

      प्राप्त जानकारी के अनुसार नरेंद्र नगर कोविड केयर सेंटर में इलाज करा रहे 19 संक्रमित मरीज शनिवार की दोपहर लंच करने के बाद अचानक फरार हो गए। स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन की टीम को मामला पता चला तो हड़कंप मच गया। आनन-फानन में स्वास्थ्य विभाग की टीम के साथ पुलिस को भी सूचना देकर फरार संक्रमित मरीजों को तलाशने की कवायद शुरू की गई, मगर देर रात तक फरार हुए संक्रमित मरीजों की भनक प्रशासन नहीं लगा सका। फिलहाल फरार हुए संक्रमित मरीजों के खिलाफ महामारी एक्ट में मुकदमा पंजीकृत करने की तैयारी स्वास्थ विभाग की टीम ने कर ली है। मामले में मीडिया को जानकारी देने के लिए भी संबंधित अधिकारी चुप्पी साधे हुए हैं। हालांकि जिलाधिकारी ईवा आशीष श्रीवास्तव ने बताया कि भागे 19 संक्रमित मरीज राजस्थान के बताए गए हैं। जिनकी तलाश लगातार की जा रही है। पुलिस भी तलाश के लिए लगातार अपने प्रयास में जुटी हुई है। बताया रविवार की सुबह सभी संक्रमित मरीजों के खिलाफ महामारी एक्ट के तहत मुकदमा पंजीकृत कराया जा रहा है। बता दें कि कुछ दिन पहले भी कैलाश गेट स्थित कोविड केयर सेंटर से 4 संक्रमित मरीज फरार हो गए थे। जिन्हें स्वास्थ्य विभाग की टीम ने फिर से पकड़कर भर्ती कराया था। ऐसे में सवाल खड़ा होता है कि क्या कोविड केयर सेंटर में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम नहीं है। प्रशासन की इस लापरवाही की वजह से संक्रमित मरीजों के संपर्क में आने वाले लोगों की जान को भी खतरा होने का डर पैदा हो गया है।

Share To:

Post A Comment: