ऋषिकेश/समाचार भास्कर -  तपोवन क्षेत्र में धौलसूत गंगा में लगातार हो रहे अतिक्रमण से कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है। प्रशासन ने ध्यान देकर अतिक्रमण नहीं हटाया तो अतिक्रमण कर घर बनाने वालों को गंभीर परिणाम भुगतने हो सकते हैं। 



  तपोवन के पूर्व प्रधान सुरेश उनियाल ने बताया कि धौलसूत गंगा का वर्तमान में स्वरूप नाले में परिवर्तित हो गया है। जो चिंता का विषय है। लगातार धौलसूत गंगा में अवैध निर्माण हो रहे हैं, जो कभी भी विनाश का कारण बन सकते हैं। बताया यदि पहाड़ी क्षेत्र में कभी बादल पटाया घनघोर मूसलाधार बारिश हुई तो धौलसूत गंगा में पानी का वेग विनाशकारी साबित हो सकता है। इसलिए प्रशासन को धौलसूत गंगा में हो रहे अवैध निर्माण पर नकेल कसनी चाहिए। पूर्व प्रधान ने प्रशासन से धौलसूत गंगा की सफाई कर दोनों ओर आरसीसी से निर्माण कर फुटपाथ बनाने की मांग की है। जिससे लोग आकर्षित होंगे। बताया कि धौलसूत गंगा में पानी छोड़कर मछली पालन का कार्य भी यहां किया जा सकता है। जिससे स्थानीय लोगों को रोजगार मिलेगा। बता दें कि धौलसूत गंगा में लगातार अवैध निर्माण किए जा रहे हैं। जिसकी शिकायत विकास प्राधिकरण से लेकर डीएम तक की गई है। लेकिन अतिक्रमणकारियो पर कोई कार्रवाई नहीं हो रही है। जिससे अतिक्रमणकारियों के हौसले बुलंद है। कार्यवाही नहीं होने से स्थानीय लोगों में प्रशासन के खिलाफ नाराजगी है।

Share To:

Post A Comment: