ऋषिकेश/देहरादून/समाचार भास्कर - आगामी 30 नवंबर को पढ़ने वाली कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर यदि आप गंगा स्नान के लिए हरिद्वार आना चाहते हैं तो यह खबर आपके लिए महत्वपूर्ण है कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए हरिद्वार प्रशासन ने गंगा स्नान स्थगित कर दिया है 30 नवंबर को सभी गंगा घाटों पर गंगा स्नान श्रद्धालुओं के लिए वर्जित रहेगा उत्तराखंड के डीजीपी अशोक कुमार ने इस संबंध में देशवासियों से हरिद्वार न आने की अपील की है। 


शुक्रवार को डीजीपी अशोक कुमार ने देशवासियों के नाम एक बयान जारी किया। जिसमें उन्होंने देशवासियों से कार्तिक पूर्णिमा के पावन पर्व पर गंगा स्नान के लिए हरिद्वार ना आने की अपील की है। डीजीपी ने कहा कि कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए गंगा स्नान प्रशासन के द्वारा स्थगित कर दिया गया है। क्योंकि गंगा स्नान के दिन हजारों नहीं बल्कि लाखों श्रद्धालु स्नान के लिए पहुंचते हैं। ऐसे में सोशल डिस्टेंस का पालन कराना संभव नहीं होगा। लिहाजा गंगा स्नान को वैश्विक महामारी के चलते स्थगित किया जा रहा है। डीजीपी ने देश दुनिया के श्रद्धालुओं से कार्तिक पूर्णिमा के पावन पर्व पर हरिद्वार ना आने की अपील की है। उन्होंने उम्मीद जताई है कि श्रद्धालु वैश्विक महामारी की मजबूरी को देखते हुए उनकी अपील समझेंगे और हरिद्वार नहीं आएंगे। डीजीपी ने श्रद्धालुओं से सहयोग की अपील करते हुए कहा है कि श्रद्धालु घरों में ही रहकर मां गंगा का स्मरण करें और मां गंगा से इस बीमारी को खत्म करने के लिए प्रार्थना भी करें।






Share To:

Post A Comment: