ऋषिकेश/समाचार भास्कर - उत्तराखंड के कालागढ़ क्षेत्र के थाना प्रभारी रियाज अहमद ने कोरोना काल में शहर वासियों का दिल जीत लिया है। जिस शिद्दत के साथ उन्होंने गरीबों की समस्याओं को सुनकर उनका समाधान किया। उससे हर किसी की जुबान पर रियाज अहमद का नाम सिर चढ़कर बोल रहा है।
          दरअसल जिस दिन से कोरोना संक्रमण का खतरा राज्य में शुरू हुआ उसी दिन से शहर वासियों की सुरक्षा को लेकर रियाज अहमद सक्रिय नजर आए। उन्होंने सबसे पहले शहर वासियों को सुरक्षा के प्रति सोशल मीडिया के माध्यम से जागरूक करने का प्रयास किया। शहर वासियों को हाथ धोने मास्क पहनने और केंद्र सरकार के द्वारा जारी गाइडलाइन का पालन करने के बारे में भी बताया। नतीजा शहर के लोग जागरूक हुए और लॉकडाउन के दौरान शहर वासियों ने कम से कम नियमों को तोड़ा। इस दौरान जरूरतमंदों को जहां उन्होंने अपनी पुलिस टीम के द्वारा मदद पहुंचाई। वही बीमारों को भी अस्पताल पहुंचाने में कोई कसर नहीं छोड़ी। रियाज भले ही इसे अपना फर्ज बता रहे हो मगर यह कहीं ना कहीं उनका फर्ज इंसानियत का संदेश भी दे रहा है। इस संबंध में जब रियाज अहमद से बात करी तो उन्होंने साफ कहा कि वर्दी पहनने के बाद अपराधियों के लिए पुलिस भले ही बुरी हो मगर खाकी के अंदर भी एक इंसान है। जो अच्छा दिखाई देने पर अच्छा और पूरा दिखाई देने पर कानूनी तरीके से फैसला लेने के लिए मजबूर होता है।
Share To:

Post A Comment: