ऋषिकेश/समाचार भास्कर - युक्ता मिश्र (नरेंद्रनगर,टिहरी गढ़वाल)और मुक्ता मिश्र(ऊधम सिंह नगर) में बतौर एसडीएम तैनात हैं। दोनों बहने इससे पहले अल्मोड़ा जिले में भी तैनात रह चुकी हैं। उनकी पढ़ाई गोपेश्वर,बरेली और सहारनपुर में हुई। अपने लक्ष्य को लेकर युक्ता और मुक्ता पहले से ही अडिग थीं। बरेली कॉलेज से ग्रेजुएशन के दौरान दोनों ने पोस्टल असिस्टेंट पद के लिए परीक्षा दी। सफल रहीं तो दोनों अल्मोड़ा के डाकघर में सेवाएं देने लगीं। साथ ही अल्मोड़ा के सोबन सिंह जीना कैंपस में प्राइवेट स्टूडेंट के तौर पर एडमिशन लेकर आगे की पढ़ाई करती रहीं।
डाकघर के काम में बिजी होने के बावजूद दोनों लगातार पीसीएस की तैयारी में जुटी रहीं। इस मेहनत का सुखद परिणाम भी निकला और साल 2014 में दोनों बहनों ने पीसीएस की परीक्षा एक साथ पास की। ना सिर्फ पास की बल्कि टॉपर भी रहीं। एसडीएम बनने से पहले युक्ता मिश्र और मुक्ता मिश्र परिवहन कर अधिकारी और पोस्टल इंस्पेक्टर के रूप में सेवाएं दे रही थीं।
आज दोनों नरेंद्रनगर और ऊधमसिंहनगर में एसडीएम के पद पर तैनात हैं। युक्ता और मुक्ता मिश्र की गिनती पहाड़ की काबिल महिला अफसरों में होती है, दोनों पहाड़ की बेटियों के लिए रोल मॉडल हैं। होनहार युक्ता और मुक्ता मिश्र अपना काम ईमानदारी से करने के साथ ही सामजिकगतिविधियों में भी उल्लेखनीय योगदान दे रही हैं।




Share To:

Post A Comment: