ऋषिकेश/समाचार भास्कर - लॉक डाउन के बीच तपोवन के क्रिया योग आश्रम के कर्मचारियों को तनख्वाह नहीं मिलने के मामले में पुलिस ने कार्यवाही की तो संचालकों के होश ठिकाने आ गए। पुलिस की कार्रवाई से बचने के लिए सभी कर्मचारियों को तनख्वाह देकर भविष्य में भी सही समय पर तनख्वाह देने का वादा किया।

   
 दरअसल कुछ दिन पहले क्रिया योग आश्रम में रहने वाले कुछ कर्मचारियों ने मुनि की रेती थाना पुलिस को तहरीर देकर अवगत कराया था कि 1 महीने से आश्रम के संचालक उनको तनख्वाह नहीं दे रहे हैं। जिसकी वजह से उनके आगे रोजी-रोटी का संकट खड़ा हो गया है। समस्या सामने आने के बाद सरकार के दिशा-निर्देशों पर पुलिस ने अमल किया। इस मामले में आश्रम संचालकों को तनख्वाह देने के बाबत निर्देशित किया गया। पुलिस का दबाव बनते देख आश्रम संचालकों ने कर्मचारियों को बुलाकर तनख्वाह दे दी। तनख्वाह मिलने पर कर्मचारियों ने पुलिस का आभार व्यक्त किया। वहीं इंस्पेक्टर आरके सकलानी ने बताया कि सरकार के सख्त निर्देश है कि कोई भी मालिक अपने कर्मचारियों का शोषण नहीं करेगा। उनको समय पर तनख्वाह भी देगा। शिकायत मिलने पर पुलिस ने आश्रम संचालकों को निर्देशित किया था। जिसके बाद कर्मचारियों को तनख्वाह मिल गई है। आपको बता दें कि क्रिया योग आश्रम का विवादों से पुराना नाता है। पहले भी कई बार कई मामलों में आश्रम विवादों में रहा है। बात करें तो काफी समय पहले वनविभाग के छापेमारी के दौरान कछुआ और जंगली जानवर आश्रम में मिले थे। इसके अलावा नेशनल हाईवे के अधिकारियों के साथ भी विवाद हुआ जो न्यायालय तक पहुंचा था और स्थानीय निवासी रविंद्र भण्डारी के साथ मारपीट का मामला भी क्रिया योग आश्रम से जुड़ा हुआ उस दौरान क्रियायोग आश्रम के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर तपोवन के सैकड़ों लोगों ने सड़क पर जुलूस तक निकाला गया था बाकी आश्रम के खिलाफ आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला चलता रहता है।





Share To:

Post A Comment: