ऋषिकेश/ समाचार भास्कर - तीर्थनगरी ऋषिकेश में कोई भी बेघर भूखा ना सोए इसके लिए जहां प्रशासन लगातार सामाजिक संस्थाओं के माध्यम से राहत देने में लगा है। वही निर्मल आश्रम भी बिना किसी सहयोग के अपने स्तर से लगातार सैकड़ों बेघरों को प्रतिदिन भोजन की व्यवस्था कराने में लगा है। निर्मल आश्रम के इस सराहनीय कार्य के लिए लगातार क्षेत्र में प्रशंसा की जा रही है। 

         22 मार्च को जनता कर्फ्यू के बाद हुए लॉक डाउन से बेघरों में अपने भोजन पानी की व्यवस्था को लेकर लगातार चिंता देखी जा रही थी। इस चिंता का निराकरण करने के लिए जहां प्रशासन ने सबसे पहले सामाजिक संस्थाओं के सहयोग से भोजन की व्यवस्था सुनिश्चित करनी शुरू की। वही निर्मल आश्रम ने भी एक कदम आगे बढ़ाकर अपने बलबूते सैकड़ों बेघरों को प्रतिदिन भोजन कराने की व्यवस्था को बनाया हुआ है। लगातार 2 हफ्ते से निर्मल आश्रम जगह-जगह लोगों को भोजन उपलब्ध करा रहा है। यही नहीं जरूरतमंदों को राशन भी वितरित किया है। आज दसवें दिन लक्ष्मण झूला पर रोड कारगिल शाहिद दिनेश फिलिंग स्टेशन पर लंगर वितरित करने पहुंचे निर्मल आश्रम के संचालकों की हौसला अफजाई के लिए मौके पर चौकी प्रभारी विनोद कुमार ने भी अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। उन्होंने कहा कि निर्मल आश्रम की जितनी सराहना की जाए कम है। आश्रम के संचालक सरदार विक्रमजीत सिंह ने बताया कि सिख धर्म के अंदर भूखों को भोजन कराना सबसे बड़ा पुण्य माना जाता है। इसलिए वह लगातार अपने स्तर से प्रयास कर रहे हैं कि कोई भी भूखा शहर के अंदर रात को ना सोए।
Share To:

Post A Comment: