ऋषिकेश/ समाचार भास्कर - पिछले एक महीने से कोरोना मुक्त क्षेत्र बने ऋषिकेश एम्स के अंदर एक के बाद एक कोरोना पॉजिटिव के मामले सामने आ रहे है। दो दिन पहले यूरोलॉजी विभाग के नर्सिंग आफिसर के कोरोना पॉजिटिव आने के बाद मंगलवार की सुबह नैनीताल निवासी एक महिला में कोरोना की पुष्टि हुई। वही शाम को ही फिर से एम्स की एक नर्स और नैनीताल निवासी महिला की सहयोगी की रिपोर्ट भी कोरोना पॉजिटिव आने से एम्स प्रशासन के हाथ-पैर फूल गए हैं। वहीं शहरवासियों में भी दहशत का माहौल बन गया है। टोटल  4  कोरोना पॉजिटिव केस सामने आने के बाद एम्स प्रशासन अब सभी कड़ियों को जोड़कर इस मामले की जांच में जुटने की बात कह रहा है। मगर बड़ा सवाल यह है कि आखिरकार एक महीने से जब ऋषिकेश और आसपास 25 किलोमीटर के दायरे में कोई भी कोरोना पॉजिटिव का मामला सामने नहीं आया तो अचानक से यह कोरोना पॉजिटिव की लाइन लगनी कैसे शुरू हो गई !
Share To:

Post A Comment: