ऋषिकेश/समाचार भास्कर - रविवार को माता कृष्णा कुमारी जी 87 वर्ष निरंकारी, गंगा नगर ऋषिकेश निवासी का देहांत हो गया उनके बेटे दुष्यंत कुमार वैद्य ने निर्मल आश्रम आई इंस्टीट्यूट के द्वारा लगातार नेत्रदान महादान के प्रति लगातार जन जागरूकता अभियान से प्रेरित होकर दुष्यंत कुमार वैद्य ने अपनेे माता की आंख दान करनेे की बात निर्मल आश्रम आई इंस्टिट्यूट के प्रबंधक आत्म प्रकाश कोच्चर बाऊजी से संपर्क साध कही ।

जिसके बाद निर्मल आश्रम आई इंस्टिट्यूट के डॉ. अन्शिका और श्री मकरेंदु की टीम निवासी के स्थान पर पहुंची और डॉक्टरों की टीम ने मृतक की आंखों से दोनों कार्निया सुरक्षित प्राप्त कर ली । जानकारी देते हुए बताया कि दोनों कार्निया स्वस्थ हैं जिन्हें जांच के बाद दो नेत्रहीन व्यक्तियों को प्रत्यारोपित किया जाएगा ।
मौके पर हरिश लाल वांगा (निरन्कारी प्रमुख), श्रीमति भावना  वैद्य बहू  राजेश जस्सल दीपक जस्सल पोते संस्थान प्रशासन ने नेत्रदान महादान के लिए परिवार का धन्यवाद किया तथा आगे भी इस नेक व महान कार्य में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेने की अपील की।








Share To:

Post A Comment: