ऋषिकेश - विभिन्न जानलेवा बीमारियों से निराश हो चुके निराश हो चुके लोगों को होम्योपैथिक दवा के द्वारा निशुल्क इलाज कर रहे स्वामीनारायण मिशन सोसाइटी के अध्यक्ष/संस्थापक डॉ. स्वामी नारायण दास ने श्यामपुर स्थित खदरी खड़क माफ में रविवार को एच.आई.वी. (एड्स) जागरूकता शिविर के साथ-साथ सामान्य रोग चिकित्सा शिविर का आयोजन किया गया । 

 इस अवसर डॉ. स्वामी नारायण दास जी ने जानकारी देते हुए बताया की इस बीमारी में संक्रमण, संक्रमित सुई के उपयोग से, संक्रमित गर्भवती माता से बच्चे को, असुरक्षित रुप से बहु शारीरिक सम्पर्क रखने वाले व्यक्तियों को प्राय होता है। इस संक्रमण से बचने के लिए सुई लगवाते समय, रक्त चढवाते समय उनके  संक्रमण पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है तथा आपसी सम्बन्ध बनाने से पहले दोनों पक्षों को एच. आई. वी. की जांच करा लेनी चाहिए। क्योंकि यह संक्रमण एक बार शरीर में आ जाने पर उससे मुक्ति पाना बहुत कठिन हो जाता है और तरह - तरह की बीमारियां शरीर मे अपना घर बनाने लगती हैं। इसमें शरीर की प्रतिरोधक क्षमता इतनी कम हो जाती है कि थोडी सी ठंडी या गरम हवा लगने पर शरीर में कोई न कोई समस्या खडी हो जाती है प्रायः दवाओं का प्रभाव भी शरीर पर नहीं पडता है। इस संक्रमण से प्रभावित व्यक्तियों से उत्पन्न संतान को भी 98℅ तक इस संक्रमण से प्रभावित होने की संभावना ह़ोती है जबकि इस संक्रमण से प्रभावित व्यक्तियो के साथ काम करने , उठने बैठने एवं बाह्य शरीर स्पर्श करने से इस संक्रमण के फैलने की संभावना बिलकुल नहीं है। 
होम्योपैथिक चिकित्सा विज्ञान मे इस बीमारी से निपटने के लिए बहुत प्रभावशाली एवं कारगर व्यवस्था है। होम्योपैथी द्वारा बहुत लोग इससे छुटकारा पा रहे हैं । लगभग 111 लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण कर उन्हें उनकी बीमारी के अनुसार नि:शुल्क दवा दी गई।
 इस शिविर में विवेक रावत, संजय शर्मा, सुदर्शन पंत,  विनोद रावत, धनपाल सिह रावत एवं अन्य स्वंय सेवक उपस्थित थे।





Share To:

Post A Comment: