ऋषिकेश/समाचार भास्कर - गुरु तेग बहादुर माता गुजरी और गुरु गोविंद सिंह के साहबजादो की शहादत के अवसर पर निर्मल आश्रम ऋषिकेश में कीर्तन दरबार का आयोजन किया गया। जिसमें रागी जत्थों ने संगत को निहाल किया।
            सोमवार को निर्मल आश्रम में कीर्तन दरबार का आयोजन किया गया जिसका शुभारंभ आश्रम के महंत संत जोत सिंह महाराज ने शहीदों को नमन करते हुए दीप प्रज्वलित करके किया। मौके पर उन्होंने कहा कि धर्म की रक्षा के लिए गुरु गोविंद सिंह के साहबजादो ने अपना जीवन बलिदान कर दिया। उनको याद करना ही सच्ची श्रद्धांजलि देना है। कार्यक्रम में दिल्ली से दलजीत सिंह और उनके साथियों ने संगतो को निहाल किया। जिसके बाद आश्रम में गुरु का अटूट लंगर सारा दिन चलता रहा। जिसमें हजारों श्रद्धालुओं ने प्रसाद खाकर पुण्य प्राप्त किया। मौके पर निर्मल पंचायती अखाड़ा के महंत ज्ञान देव महंत जसविंदर सिंह सूरज गुलाटी अनिल सिंगर भूषण जैन मनजीत सिंह कुलदीप सिंह करमजीत सिंह गुरदीप सिंह गुरविंदर सिंह देवेंद्र सिंह दीपा सहित सैकड़ों श्रद्धालु उपस्थित रहे। 











Share To:

Post A Comment: