ऋषिकेश - क्रिसमस का त्यौहार तीर्थ नगरी ऋषिकेश में धूमधाम से मनाया गया छात्र छात्राओं को क्रिसमस की जानकारी देकर गिफ्ट भी वितरित किए गए टीचरों ने  सैंटा की कहानी भी सुनाई चंद्रेश्वर नगर स्थित ज्ञान करतार पब्लिक स्कूल में क्रिसमस का त्यौहार पर विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया ।
जिसमें छात्र छात्राओं को चित्रकला लोकगीत व डांस प्रतियोगिता में भाग लिया अध्यापकों ने बच्चों को क्रिसमस की जानकारी दी साथ ही उन्हें टॉफी चॉकलेट गिफ्ट भी वितरित किए बताया कि क्रिसमस ईसाई धर्म का सबसे बड़ा त्यौहार होता है अन्य धर्मों के लोग भी आपसी मेलजोल को बढ़ावा देने के उद्देश्य से अब इस त्यौहार को मनाने लगे हैं । कहा जाता है कि इस दिन सैंटा लोगों के घरों में आता है और उन्हें मनपसंद के उपहार देता है इस दौरान छात्र छात्राओं ने सेंटा के कपड़े पहन कर एक दूसरों के साथ खूब मस्ती  भी की ।
स्कूल के संस्थापक गुरविंदर सलूजा ने बताया कि यह स्कूल उन बच्चों के लिए है जिनके माता-पिता फीस देने में असमर्थ है जिस कारण वह अपने बच्चों को स्कूल नहीं भेजते इसी कारण इस स्कूल का निर्माण किया गया है कि गरीब बेसहारा निराश्रित लोगों के बच्चे इस स्कूल में निशुल्क शिक्षा प्राप्त  माता पिता व स्कूल स्कूल का नाम रोशन करें । बताया कि बच्चों से फीस नहीं लिया जाता है साथी कॉपी किताब मिड-डे-मील बिस्किट फल आदि दिए जाते हैं ।
स्कूल के प्रधानाचार्य ज्योति मशाली ने बताया समाज  के कल्याण हेतु यह कार्य सराहनीय है हर एक व्यक्ति इस तरह समाज कल्याण के कार्य से जुड़े रहे तो आने वाले दिनों में कोई बच्चा अनपढ़ ना रहे इस अवसर पर मधुबन के स्वामी पूर्णानंद जी, श्रीमती नमिता सलूजा, पूर्णानंद पब्लिक स्कूल की प्रधानाचार्य विधि गुप्ता, राधा आचार्य, नीलम नरेश, कुसुम जोशी, बीना नौटियाल, विमला वदूगा, स्कूल की अध्यापिकाए किरण जोशी, उषा शर्मा, रजनी बलूनी, पूजा, जया, हरीश धींगरा, राजकुमार अग्रवाल, अमित सक्सेना ,रवि शास्त्री, अभिषेक शर्मा, राम चौबे, सुनील थपलियाल आदि उपस्थित रहे ।
Share To:

Post A Comment: