ऋषिकश/समाचार भास्कर - भाजपा कार्यकर्ता रमेश पुंडीर ने पार्टी पदाधिकारियों पर उपेक्षा करने का आरोप लगाया है। 

      समाचार भास्कर से खास बातचीत करते हुए रमेश पुंडीर ने बताया कि नरेंद्र नगर ग्रामीण मंडल अध्यक्ष पद के लिए उनकी सबसे मजबूत दावेदारी थी। 36 बूथ अध्यक्षों में से 27 बूथ अध्यक्षों ने उनको समर्थन दिया था। बावजूद इसके पार्टी पदाधिकारियों ने नियम विरुद्ध दूसरे कार्यकर्ता को मंडल अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी सौंप दी। बताया कि मंडल अध्यक्ष पद के लिए पार्टी के संविधान अनुसार 40 वर्ष से अधिक उम्र का कार्यकर्ता नहीं होना चाहिए। जबकि जिस कार्यकर्ता को जिम्मेदारी सौंपी गई है उसकी वर्तमान में उम्र 56 वर्ष है। आरोप लगाया कि मंडल अध्यक्ष बनने वाले कार्यकर्ता जिला पंचायत चुनाव के दौरान पार्टी के खिलाफ दी कार्य कर चुके हैं। पदाधिकारियों की इस उपेक्षा से कार्यकर्ताओं का मनोबल टूटा है। उन्होंने पार्टी पदाधिकारियों के फैसले पर उंगली उठाते हुए कहा कि भविष्य में पार्टी को इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा। सुनिए रमेश पुंडीर की मुंह जबानी उनकी कहानी
Share To:

Post A Comment: