ऋषिकेश/समाचार भास्कर - आनंद धाम के महंत रामजी बाबा के आकस्मिक निधन पर उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने शोक व्यक्त किया है। उन्होंने आश्रम पहुंचकर दिवंगत आत्मा की शांति के लिए 2 मिनट का मौन रखा। मौके पर उनके चित्र पर पुष्प अर्पित अपनी श्रद्धांजलि दी।
      मंगलवार को मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत आनंद धाम आश्रम पहुंचे उनके साथ सांसद अजय भट्ट राज्यमंत्री भगतराम कोठारी भी उपस्थित रहे। इस दौरान मुख्यमंत्री ने महंत राम जी बाबा के आकस्मिक निधन पर दुख जताया। आश्रम के कर्मचारियों और संतों महंतों को आश्वासन दिया कि सरकार के लिए यदि कोई मदद की जरूरत हो तो बताने में संकोच ना करें। कहा कि महंत राम जी ने अपने जीवन का एक बड़ा हिस्सा जनहित में गुजारा है। उनके द्वारा किए गए शुभ कार्यों को आगे भी किया जाता रहे ऐसी इच्छा उन्होंने आश्रम संचालकों से जताई। कहा महंत राम जी के द्वारा किए गए सराहनीय कार्य को कभी भुलाया नहीं जा सकता है। आपको बता दें कि बीते रोज महंत राम जी का हृदय गति रुकने के कारण आकस्मिक निधन हो गया था।
मौके पर कृष्णायन देसी गौरक्षाशाला के संस्थापक अध्यक्ष महामंडलेश्वर ईश्वरदास ,स्वामी आत्मानंद, स्वामी ब्रह्मानंद, स्वामी रवींद्र देव, स्वामी चेतन स्वरूप, स्वामी उषाकिरण ,घीशा संत समिति के उपाध्यक्ष स्वामी अखंडानंद, स्वामी प्रदीप, पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष शंभू पासवान, उमाशंकर व्यास, विजय शर्मा, मनीष शर्मा, चैन सिंह बिष्ट आदि उपस्थित थे।

Share To:

Post A Comment: