ऋषिकेश/समाचार भास्कर - उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने चंद्रभागा नदी किनारे बेघर हुए लोगों से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने कहा कि वह गरीबों के साथ अन्याय नहीं होने देंगे। जल्दी सीएम से मुलाकात कर गरीबों के हक के लिए बात की जाएगी।
      गुरुवार को एक कार्यक्रम में प्रतिभाग करने पहुंचे पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत अचानक चंद्रभागा नदी किनारे पहुंच गए। यहां उन्होंने बेघर हुए लोगों से मुलाकात की। उनके दुख दर्द को सुना। जिसके बाद पूर्व मुख्यमंत्री ने मीडिया से बातचीत में कहा कि झोपड़िया तोड़ने से पहले यहां रहने वाले लोगों को मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध सरकार को करनी चाहिए थी। जो नहीं कराई गई हैं। यह दुर्भाग्य की बात है। उन्होंने कहा कि गरीबों के हितों की लड़ाई कांग्रेस शुरू से लड़ती आई है। यदि हमारी सरकार होती तो आज भी गरीबों के आशियाने सुरक्षित रहते। उन्होंने बेघर हुए लोगों को आश्वासन दिया कि वह जल्द ही उनके न्याय के लिए मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत से मुलाकात कर बातचीत करेंगे। मौके पर एआईसीसी सदस्य जयेन्द्र रमोला,जयपाल जाटव,राजपाल खरोला,शिवमोहन मिश्र,पार्षद विजय लक्ष्मी शर्मा,मधु मिश्रा,पार्षद पुष्पा मिश्रा,पार्षद शकुन्तला शर्मा,अजय शर्मा,अमित पाल,गौतम नौटियाल आदि कई कांग्रेसी मौजूद थे ।
Share To:

Post A Comment: