ऋषिकेश/समाचार भास्कर - ओंकारानंद इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट एंड टेक्नोलॉजी के छात्रों ने प्रख्यात बांसुरी वादक चंदन कुमार की प्रस्तुति देखकर दांतो तले अंगुली दबा ली। बांसुरी सुनने के बाद तालियां बजाते हुए चंदन कुमार की हौसला अफजाई की।
  बुधवार को ओंकारानंद इंस्टीट्यूट में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें प्रख्यात बांसुरी वादक चंदन कुमार मुख्य अतिथि के रुप में उपस्थित हुए। कार्यक्रम का शुभारंभ संस्थान के निदेशक डॉ राजुल दत्त वरिष्ठ प्रोफेसर प्रमोद उनियाल और बांसुरी वादक चंदन कुमार के साथ जीएस रामानुजन ने दीप प्रज्वलित करके किया। मौके पर बांसुरी वादक चंदन कुमार ने बताया कि बांसुरी बजाना एक अद्भुत कला है। इसे सीखने के लिए कड़ी मेहनत करनी पड़ती है। जो व्यक्ति एक बार बांसुरी बजाना सीख ले उसके लिए बाकी सारे म्यूजिक बांसुरी से बजाना आसान हो जाता है। इस दौरान उन्होंने कार्यक्रम में उपस्थित छात्रों को बांसुरी की नई नई धुनों को सुनाया। जिसे सुनकर छात्र मंत्रमुग्ध हो गए। छात्रों ने भी जमकर बांसुरी की धुन का लुत्फ उठाया। तालियां बजाकर बांसुरी वादक का उत्साहवर्धन किया। इस दौरान छात्रों ने बांसुरी बजाने के तरीके और बांसुरी के रहस्य की जानकारी भी चंदन कुमार से प्राप्त की। कार्यक्रम में डॉक्टर आम्रपाली योगेश लखेरा विजयकांत मंगाई अनिल राणा कोटी प्राची शर्मा दिशा बत्रा दिशाहीन गड़ा शुभम कुकरेती दीपा अंजलि आदि उपस्थित रहे।
Share To:

Post A Comment: