ऋषिकेश/समाचार भास्कर - नेत्रदान के प्रति चल रहे जागरूकता अभियान से प्रेरित होकर नई टिहरी निवासी चंदर ने अपने 83 वर्षीय पिता बिहारीलाल के निधन पर उनकी आंखें दान करी हैं।
        यह जानकारी देते हुए निर्मल आई इंस्टिट्यूट के आत्मप्रकाश बाबा ने बताया कि बुधवार को 83 वर्षीय बिहारी लाल निवासी नई टिहरी का निधन हो गया। जिसके बाद उनके बेटे चंदर ने अपने पिता की आंखें दान करने का निर्णय लिया। इस संबंध में उन्होंने नेत्रदान के प्रति जन जागरूकता अभियान चलाने वाले गोपाल नारंग से संपर्क किया। जिसके बाद निर्मल आई इंस्टिट्यूट की टीम बिना समय गवाएं बिहारीलाल के निवास स्थान पहुंची। यहां आंखों की कार्निया सुरक्षित प्राप्त कर लिया। बताया जल्द ही बिहारी लाल की आंखों से दो जिंदगियां इस दुनिया के सुंदर नजारे आसानी से देख सकेंगी। उन्होंने इस शुभ काम कराने पर बिहारीलाल के बेटे चंदर का आभार व्यक्त करते हुए जल्द ही सम्मानित करने की बात कही है।
Share To:

Post A Comment: