ऋषिकेश/समाचार भास्कर - टीएसजीपी का निजीकरण होने का विरोध थमने का नाम नहीं ले रहा है कर्मचारियों के बाद अब कांग्रेस ने तेजी से के निजीकरण का विरोध करना शुरू कर दिया है इसी कड़ी में पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने टीएसजी सिगरेट पर सांकेतिक धरना देकर अपना विरोध जताया है।
       पूर्व घोषित कार्यक्रम के अनुसार गुरुवार को शहर में ठंड के माहौल को गर्म करने पहुंचे पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने टीएचडीसी गेट पर धरना देकर विरोध किया। सैकड़ों कार्यकर्ताओं की मौजूदगी में केंद्र सरकार और राज्य सरकार के खिलाफ जमकर निशाने साधे। आरोप लगाया कि सरकार देश में सरकारी उपक्रमों का निजीकरण कर रही है। जिसका कांग्रेस मरते दम तक विरोध करेगी। कहा भाजपा के शासनकाल में गलत तरीकों से फैसले जनता पर थोपे जा रहे हैं। जिससे गरीब लोग परेशान हैं। कभी नोटबंदी तो कभी सरकारी उपक्रमों का निजी करण करने के फैसले लेकर लोगों के दिलों में भाजपा दहशत फैलाने में लगी है। उन्होंने चेतावनी दी यदि केंद्र और राज्य सरकार ने अपनी मनमानी बंद नहीं की तो कांग्रेस जनता को साथ लेकर सड़कों पर आंदोलन करने के लिए मजबूर होगी। इस दौरान पूर्व काबीना मंत्री शूरवीर सिंह सजवान, कांग्रेस नेता जयपाल जाटव राजपाल खरोला जयेंद्र रमोला पूर्व राज्यमंत्री कमल शर्मा प्रताप नगर ब्लॉक प्रमुख प्रदीप रमोला राज्य आंदोलनकारी देवी सिंह पवार अजय रमोला ग्राम प्रधान भगवान सिंह रावत सहित अन्य दिग्गज नेताओं ने सरकार के खिलाफ जमकर बयान बाजी करते हुए अपना विरोध प्रकट किया। 
Share To:

Post A Comment: