ऋषिकेश/समाचार भास्कर - 31 अक्टूबर को ट्रक की टक्कर लगने से घायल हुए बाइक सवार युवक ने एम्स में उपचार के दौरान दम तोड़ दिया है। जिसके बाद ग्रामीणों ने शव श्यामपुर पुलिस चौकी के पास सड़क पर रख जाम लगा दिया। इस दौरान ग्रामीणों ने प्रशासन से मुआवजे की मांग की। पुलिस पर भी ड्राइवर के खिलाफ कार्रवाई नहीं करने का आरोप लगाया।
      सोमवार की शाम करीब 3:30 बजे श्यामपुर के ग्रामीण एकत्रित होकर पुलिस चौकी पहुंचे। यहां एक युवक का शव सड़क पर जाम लगा दिया। मौके पर पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। आरोप लगाया कि 31 अक्टूबर को जगदीश प्रसाद निवासी गीता नगर को एक ट्रक ने टक्कर मार दी थी। जिसमें युवक गंभीर रूप से घायल हो गया। उसे उपचार के लिए एम्स में भर्ती कराया गया। जहां उसने देर रात दम तोड़ दिया। आरोप लगाया कि इस दौरान पुलिस ने कब्जे में लिया ट्रक बिना जानकारी दिए छोड़ दिया। ड्राइवर के खिलाफ भी कोई कार्रवाई नहीं की। ग्रामीणों ने प्रशासन से मृतक के परिवार वालों को मुआवजा देने की मांग की। इस दौरान मौके पर पहुंचे इंस्पेक्टर रितेश शाह और एसएसआई मनोज नैनवाल ने ग्रामीणों को काफी देर तक समझाया। लेकिन ग्रामीण अपनी मांग पर अड़े रहे। करीब डेढ़ घंटे तक जाम लगा रहा। जिसमें लोग परेशान होते रहे। काफी मशक्कत के बाद आखिरकार पुलिस का प्रयास रंग लाया और ग्रामीणों ने लिखित आश्वासन लेने के बाद शव को सड़क से हटा लिया। इंस्पेक्टर ने बताया कि मामले में लगाए जा रहे आरोप निराधार हैं। आरोपी के खिलाफ 3 तारीख को ही मुकदमा दर्ज किया गया है। ड्राइवर की गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं। मुआवजा दिलाना पुलिस के हाथ में नहीं है। इसके लिए एक प्रक्रिया होती है जिसे पूरा करना जरूरी होता है।
Share To:

Post A Comment: