ऋषिकेश/समाचार भास्कर - तीर्थनगरी ऋषिकेश में नवरात्र महोत्सव के अंतिम दिन नवमी का त्यौहार धूमधाम से मनाया गया। इस दौरान लोगों ने घरों पर कन्याओं का पूजन किया। जिसके बाद उन्हें प्रसाद खिला कर अपने-अपने व्रत पूरे किए। खास बात यह है कि इस दौरान मुंबई की तर्ज पर सुहागिनों की भी पूजा कई स्थानों पर देखने को मिली।
       सोमवार को नवमी के त्यौहार पर सुबह से ही गली मोहल्लों में कन्याओं को पूजने के लिए लोग कन्याओं को तलाशते नजर आए। जिसके बाद लोगों ने भक्ति भाव से कन्याओं का पूजन किया। उन्हें प्रसाद खिलाया। हरियाली लगाकर घरों में खुशहाली की कामना की। इस दौरान मुनिकीरेती स्थित एक घर में महाराष्ट्र निवासी परिवार ने मुंबई की तर्ज पर कन्याओं के साथ सुहागिनों को भी पूजने का कार्यक्रम किया। महाराष्ट्र स्थित सोलापुर निवासी ज्योति मसाले ने बताया कि महाराष्ट्र में नवमी के मौके पर सुहागिनों को पूजने की भी रिवाज है। जिसके चलते उन्होंने यहां पर भी उसी परंपरा के अनुसार सुहागिनों की भी पूजा की है। बताया मान्यता है कि उनकी कुलदेवी के नाम पर सुहागिनों की पूजा होती है। जिससे माता की कृपा महिलाओं पर बनी रहती है। बताया उत्तराखंड में आने के बाद उन्होंने दोनों ही परंपराओं को संयुक्त रूप से निभाया है। मौके पर इस परंपरा को देखने के लिए आसपास के लोग भी मौजूद रहे।
Share To:

Post A Comment: