ऋषिकेश/समाचार भास्कर - मुंबई में बाणगंगा सरोवर पर जल्दी ही गंगा आरती का शुभारंभ किया जाएगा इसके लिए परमार्थ निकेतन के स्वामी चिदानंद सरस्वती और मुंबई के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी के बीच वार्तालाप हुई है जिसमें गंगा आरती कराने के लिए सहमति बन गई है।
        स्वामी चिदानंद सरस्वती ने बताया कि मुंबई के बाणगंगा सरोवर पर आध्यात्मिक की दृष्टि से गंगा आरती होनी चाहिए। जिससे यहां के लोग कुछ पल शांति के बीच बिता सकें। इस योजना पर मुंबई के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने सराहना की। कहा यह बेहतर योजना है। बताया कि मुंबई में समुद्र के तट पर जहां भगवान श्री राम माता सीता की खोज में पंचवटी के लिए निकले थे। उस समय जब प्यास लगी तो अपनी प्यास बुझाने के लिए बाण चलाकर समुंदर के पास मीठा जल निकाला था। उसे बाणगंगा सरोवर कहा जाता है। स्वामी चिदानंद ने कहा कि बाणगंगा सरोवर के चारों ओर अनेक मंदिर और धर्म स्थान अत्यंत पवित्र और स्थान है। जहां पर आरती होने से लोगों में एक अध्यात्मिक संदेश भी जाएगा। जहां श्रद्धालु शाम के समय आकर आरती भी कर सकेंगे। राज्यपाल ने जल्दी ही इस योजना को धरातल उतारने की बात कही है।



Share To:

Post A Comment: