ऋषिकेश/ जोशीमठ/समाचार भास्कर - विश्वविख्यात श्री हेमकुंड साहिब धाम के कपाट शीतकालीन के लिए आज विधि विधान से बंद कर दिए गए हैं। केदारनाथ आपदा के बाद पहली बार करीब तीन लाख श्रद्धालुओं ने यात्रा काल के दौरान दरबार साहिब में माथा टेककर गुरु घर की खुशियां प्राप्त की हैं।
         गुरुवार की सुबह कपाट बंद करने के लिए धार्मिक कार्यक्रम शुरू हुए। शब्द कीर्तन किए गए। आखिर में अंतिम अरदास की गई। जिसके बाद दोपहर 2:00 बजे श्रद्धालुओं ने दरबार साहिब में माथा टेक कर कपाट बंद कर दिए। गुरद्वारा श्री हेमकुंट साहिब ट्रस्ट के उपाध्यक्ष नरेंद्र जीत सिंह बिंद्रा ने बताया कि इस वर्ष करीब तीन लाख श्रद्धालुओं ने दरबार साहिब में माथा टेका है। केदारनाथ आपदा के बाद पहली बार इतनी संख्या में श्रद्धालु दरबार साहिब में माथा टेकने पहुंचे हैं। बताया इस वर्ष श्रद्धालुओं में खासा उत्साह देखा गया। गुरु की कृपा से इस बार यात्रा में किसी भी प्रकार का कोई व्यवधान नहीं आया। उम्मीद जताई कि अगले वर्ष इससे अधिक संख्या में श्रद्धालु दर्शनों के लिए दरबार साहिब पहुंचेंगे।
Share To:

Post A Comment: