ऋषिकेश/समाचार भास्कर - हरिद्वार निवासी 85 वर्षीय सावित्री देवी का शुक्रवार की सुबह निधन हो गया। जिसके बाद उनके बेटों ने नेत्रदान महादान के तहत अपनी माता की आंखें निर्मल आश्रम आई इंस्टिट्यूट को दान कर दी। अब उनकी आंखों से नेत्र हीन 2 लोग दुनिया का सुंदर नजारा देख सकेंगे।
        यह जानकारी देते हुए निर्मल आई इंस्टिट्यूट के प्रबंधक प्रकाश बाबा ने बताया कि सावित्री देवी 85 वर्ष की थी। वह लंबे समय से बीमार थी। शुक्रवार की सुबह उनका निधन हो गया। जिसके बाद समाजसेवी अमरजीत सिंह ने उनके बेटे राजेंद्र अशोक और सौरभ को माताजी की आंखें दान कराने के लिए प्रेरित किया। बताया जागरूक होकर उन्होंने निर्मल आई इंस्टिट्यूट की टीम को सूचना दी जिसके बाद टीम में शामिल डॉ मिताली डॉक्टर डॉक्टर मकरेंदु ने आंखों से कर लिया सुरक्षित प्राप्त कर ली। बताया आंखें दान कर आने पर परिवार को सम्मानित किया जाएगा।
Share To:

Post A Comment: