ऋषिकेश/समाचार भास्कर - ऋषिकेश पहुंचे मध्य प्रदेश के श्रद्धालुओं का दल उत्तराखंड के मित्र पुलिस के दीवाना हो गया हैं। इमानदारी का परिचय देने पर श्रद्धालुओं ने मित्र पुलिस के एक सिपाही को फूल मालाओं से लाद कर सम्मानित किया है।
        मामला यह है कि शनिवार की रात बद्रीनाथ जाने के लिए मध्य प्रदेश के श्रद्धालुओं का एक दल ऋषिकेश पहुंचा। इस दौरान उन्होंने श्रीनगर नेशनल हाईवे पर जाने की कोशिश की तो तपोवन चौकी बेरियल पर तैनात पुलिसकर्मी ने नियमों का हवाला देकर उन्हें रात के समय हाईवे पर जाने से रोक दिया। इस दौरान श्रद्धालुओं ने पुलिसकर्मी को रिश्वत देकर बैरिकेडिंग खुलवाने की कोशिश की। जिस पर पुलिसकर्मी भड़क गया और नियमों का पालन करने की हिदायत देकर अपनी जान भी जोखिम में नहीं डालने की बात तक कह दी। जिसके बाद श्रद्धालुओं ने बात को समझा और अपने रिश्वत देने की गलती को स्वीकार भी किया। जिसके बाद श्रद्धालु वापस लौट गए। रविवार को श्रद्धालुओं का दल मुनी की रेती थाने पहुंचा। इंस्पेक्टर आरके सकलानी से मुलाकात की घटनाक्रम की जानकारी देते हुए क्षमा भी मांगी। जानकारी मिलते ही इंस्पेक्टर ने चौकी पर तैनात पुलिसकर्मी विशाल चौधरी को मौके पर बुला लिया। इमानदारी की मिसाल पेश करने पर उसकी पीठ थपथपाई। जिसके बाद श्रद्धालुओं ने फूल मालाओं से लादकर विशाल को सम्मानित किया। कहा कि हमारे देश में आज भी ईमानदार पुलिसकर्मियों की कमी नहीं है। कहा नियमों का पालन करते हुए लोगों को भी रिश्वत देने से गुरेज करना चाहिए। इंस्पेक्टर ने कहा कि उत्तराखंड के मित्र पुलिस अपने नाम के अनुसार काम कर रही है। जिसके लिए वह खुद पर फक्र महसूस करते हैं।
Share To:

Post A Comment: