ऋषिकेश/समाचार भास्कर - शहर में वायरल और डेंगू के बढ़ते प्रकोप से सरकारी और प्राइवेट अस्पताल मरीजों से लगातार भरे हुए हैं। घंटों लाइन में लगने के बाद भी मरीजों का नंबर डॉक्टरों को दिखाने के लिए नहीं आ रहा है। जिससे मरीज परेशान हो रहे हैं। मरीजों ने सरकार से ऐसे समय में स्पेशल व्यवस्था करने की मांग की है।
       इन दिनों शहर में लगातार डेंगू के मरीजों की संख्या बढ़ रही है। वहीं अन्य बुखार से पीड़ित मरीजों की संख्या भी कम होने का नाम नहीं ले रही है। ऐसी स्थिति में शहर के सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों में मरीजों की संख्या बेहताशा बढ़ गई है। नतीजा यह है कि घंटों लाइन में लगने के बाद भी मरीजों का नंबर डॉक्टरों को दिखाने के लिए नहीं आ रहा है। ऐसे में मरीज परेशान हो रहे हैं। सरकारी अस्पताल में मरीजों के बैठने तक के लिए जगह नहीं है। अस्पताल के अंदर केवल एक फिजिशन डॉक्टर है। जिस पर सैकड़ों मरीजों को देखने का भार है। वहीं दूसरी ओर प्राइवेट अस्पतालों में भी मरीजों का बुरा हाल है। घंटों लाइन में लगने के बाद यदि नंबर मिल भी रहा है तो इमरजेंसी मरीजों को भर्ती करने के लिए बेड खाली नहीं होने की बात कहकर वापस लौटाया जा रहा है। मरीजों ने ऐसी स्थिति में सरकार से स्पेशल व्यवस्था करने की मांग की है। सीएमएस डॉक्टर एनएस तोमर ने बताया कि मरीजों की संख्या अधिक होने के कारण व्यवस्थाओं को बनाने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है मगर स्थिति कंट्रोल में है।
Share To:

Post A Comment: