ऋषिकेश/समाचार भास्कर -   34वां राष्ट्रीय नेत्रदान जनजागरण पखवाड़ा 2019 तथा  निर्मल आश्रम आई इंस्टिट्यूट के द्वारा चलाए जा रहे चौथे नेत्रदान जन जागरूकता अभियान के समापन पर निर्मल आइ इंस्टीट्यूट (एन0 ई0 आई0) में एक भव्य कार्यक्रम का आयोजन भी किया गया। जिसमें नेत्रदान कराने वाले 25 परिजनों को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया।

शनिवार को श्यामपुर स्थित आई इंस्टिट्यूट में आयोजित कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि अतिथि कर्नल अभय राज शर्मा, ओ0आई0सी0,ई0 सी0एच0एस0 पोलीक्लीनिक  राएवाला, एवं  अतिथिगण, अर्जन गुरबक्सानी, सी0ई0ओ0 निर्मल आश्रम, ऋषिकेश,सरदार दर्शन सिंह प्रबन्धक श्री हेमकुंट साहिब मैनेजमेंट ट्रस्ट ऋषिकेश एवं रणबीर सिंह नेगी प्रधानाध्यापक निर्मल आश्रम ज्ञान दान अकादमी ने दीप प्रज्वलित करके किया।

 मुख्य अतिथि ने कहा कि वर्तमान समय में नेत्रदान करने के प्रति जो कार्यक्रम निर्मल आई इंस्टिट्यूट के द्वारा चलाया जा रहा है वह बेहद सराहनीय है। इस दौरान नेत्रदान करने वाले कीमती लाल चावला, हरविंदर सिंह, गुरुचरण कौर, रामप्रताप, वेद प्रकाश गुप्ता, श्रीमती किरण, बिहारी लाल, प्रकाश लाल बंगाली, गोगाजी, सुभाष शर्मा, मोहम्मद इब्राहिम, गुरु चरण सिंह, वीरेंद्र सिंह कोठारी सहित 25 परिवारों को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया। नेत्रदान कराने में सहभागिता निभाने वाले पंजाबी महासभा और निरंकारी भवन के संचालकों को भी सम्मानित किया गया  इसके अलावा खतौली, नहटौर, नजीबाबाद और सहारनपुर से आए नेत्रदाता स्वयंसेवकों की भी सम्मान किया गया।   
                          

 इस दौरान सांस्कृतिक व पोस्टर प्रतियोगिता भी आयोजित की गई जिसमें छात्रों ने हिस्सा लिया। नेत्रदान कराने में अहम भूमिका निभाने वाले बाबा आत्मप्रकाश ने कहा कि नेत्रदान महादान है बताया मरने के 6 घंटे के अंदर तक आंखें जीवित रहती हैं। इस दौरान यदि परिजन इंस्टिट्यूट की टीम को सूचना दे दे तो आंखों कि कर्निया सुरक्षित निकाली जाती है। जिसके बाद उनके इस सराहनीय कार्य से दो जिंदगियां दुनिया के हसीन नजारे देखती हैं। कार्यक्रम मे  डा0 अनुभा अग्रवाल उप चिकित्सा अधीक्षक एम्स ऋषिकेश, सुश्री ललिता कृष्णास्वामी, प्रधानाध्यापक निर्मल आश्रम दीपमाला पब्लिक स्कूल ऋषिकेश, श्रीमति अमृतपाल डंग हैड-मिस्ट्रेस निर्मल आश्रम ज्ञान दान अकादमी, पंजाबी महासभा, ऋषिकेश से श्री नवल कपूर, निरंकारी भवन से हरीश बांगा एव दुष्यंत कुमार, इन्द्र गोदवानी, गुर्जिंदर सिंह, दिनेश शर्मा, प्रमुख रूप से उपस्थित थे। साथ  शेरगढ़, छिद्दरवाला, भानियावाला, डोईवाला, गढ़ी-श्यामपुर, खैरी और गुमानीवाला से निर्मल आश्रम के कई अनुयायीयों ने भी कार्यक्रम में शिरकत की ।


Share To:

Post A Comment: