ऋषिकेश/समाचार भास्कर - नगर निगम क्षेत्र अंतर्गत आवारा पशुओं की संख्या घटने की बजाय लगातार बढ़ने में लगी है। जिससे स्थानीय लोगों की जान को लगातार खतरा पैदा होता जा रहा है। ऐसा ही एक मामला उस समय सामने आया जब पीडब्ल्यूडी गेस्ट हाउस के पास दो आवारा पशु जबरदस्त तरीके से लड़ने लगे। इस दौरान कई वाहन उनकी चपेट में आने से बच गए। जिससे बड़ा हादसा होने से टल गया। 

ऋषिकेश नगर निगम क्षेत्र में आवारा पशु लगातार लोगों के लिए सिरदर्द बनते जा रहे हैं। आवारा पशुओं की लड़ाई में कई बार लोग चपेट में आकर घायल हो चुके हैं। बावजूद इसके आवारा पशुओं को पकड़ने के प्रति नगर निगम गंभीर दिखाई नहीं दे रहा है। ऐसा ही एक मामला पीडब्ल्यूडी गेस्ट हाउस के पास उस समय देखने को मिला जब दो आवारा पशु जोरदार तरीके से आपस में लड़ने लगे। इस दौरान कई वाहन उनकी चपेट में आने से बच गए। जिस वजह से बड़ा हादसा होते-होते टल गया। ऐसे ही नजारे कई जगहों पर देखने को मिल रहे हैं। आवारा पशुओं के नहीं पकड़े जाने से स्थानीय लोगों में रोष का माहौल है। स्थानीय दुकानदार जयदीप कुमार प्रदीप शाह राजेश कुमार विष्णु कुमार सोनू सिंह ने नगर निगम से आवारा पशुओं को पकड़ने की मांग की है। उनका कहना है कि निगम की लापरवाही लोगों की जान पर भारी पड़ रही है।

Share To:

Post A Comment: