ऋषिकेश/समाचार भास्कर - बुधवार से शुरू होने वाली कावड़ यात्रा को सुरक्षित संपन्न कराने के लिए डीजी अशोक कुमार ने पुलिसकर्मियों को ब्रीफ किया। उन्हें शिव भक्तों के साथ विनम्र व्यवहार करने के निर्देश भी दिए। 

     मंगलवार को ओआईएमटी के सभागार में डीजी अशोक कुमार पुलिसकर्मियों को ब्रीफ करने के लिए पहुंचे। इस दौरान उन्होंने कहा कि कावड़ यात्रा सुरक्षित संपन्न कराना पुलिस के लिए किसी चुनौती से कम नहीं है। पुलिसकर्मियों को शिव भक्तों के साथ विनम्र व्यवहार सर्वप्रथम करना है। जिसके बाद भीड़ को देखते हुए व्यवस्थित तरीके से गंतव्य की ओर रवाना करना भी पुलिस की खास जिम्मेदारी में शामिल होना चाहिए। लक्ष्मण झूला पुल बंद होने के बाद कांवड़ यात्रा व्यवस्थित तरीके से संपन्न कराना पुलिस के लिए किसी टेढ़ी खीर से कम साबित नहीं होगा। मगर अपनी सूझबूझ से पुलिस कावड़ यात्रा को सुरक्षित संपन्न कराएं ऐसी जिम्मेदारी प्रत्येक पुलिसकर्मी को उठानी पड़ेगी।बैठक में एसएसपीई टिहरी डॉ. योगेंद्र रावत,एसएसपी पौड़ी दिलीप सिंह कुंवर,एडिश्नल एसपी प्रदीप कुमार राय, सीओ ऋषिकेश वीरेंद्र सिंह रावत,सीओ नरेन्द्रनगर प्रताप शाह,इंस्पेक्टर आरके सकलानी,इंस्पेक्टर रितेश शाह,एस ओ राकेंद्र सिंह कठैत आदि उपस्थित थे ।

डीजी अशोक कुमार ने बताया कि कांवड़ यात्रा में प्रतिवर्ष शिव भक्तों की संख्या में इजाफा हो रहा है। इस वर्ष लक्ष्मण झूला पुल बंद होने के बाद शिव भक्तों को राम झूला पुल से नीलकंठ की ओर भेजा जाएगा। जबकि मोनी बाबा गुफा से बैराज मार्ग की ओर से वापस भेजा जाएगा। इस दौरान तीनों जनपदों के पुलिसकर्मियों को आप से संबंधित के साथ कावड़ मिलो को संपन्न कराने के निर्देश भी डीजी ने दिए हैं।तीनों जनपद के एसएसपी ने स्थानीय लोगों से कावड़ यात्रा को सुरक्षित संपन्न कराने में सहयोग मांगा है। उन्होंने लोगों से अपने प्रतिष्ठानों और घरों पर लगे सीसीटीवी कैमरों को लगातार चालू रखने की अपील की है। जिससे पुलिस जनता के सहयोग से असामाजिक तत्वों पर कैमरे के माध्यम से आसानी से नजर रख सकें।

Share To:

Post A Comment: