ऋषिकेश/समाचार भास्कर - गुरु पूर्णिमा के मौके पर माया कुंड स्थित प्राचीन सिद्ध पीठ हनुमान मंदिर में विश्व शांति हेतु नवग्रह महापूजन कार्यक्रम का आयोजन हुआ। जिसका शुभारंभ 111 वैदिक पंडितों ने विधि-विधान से किया। 

मंगलवार को गुरु पर्व के मौके पर आयोजित कार्यक्रम में पंडितों ने नवग्रह का विधि विधान से पूजा पाठ किया। जिसके बाद रुद्राभिषेक व यज्ञ भी किया गया। इस विशेष पूजा पाठ का उद्देश्य देश दुनिया में शांति की कामना करना है। ज्ञात हो कि वाईबीसी वैदिक फाउंडेशन पिछले 17 सालों से देश के कोने कोने में जाकर विश्व शांति के लिए इस प्रकार के आयोजन कर रहा है। जिसकी श्रद्धालु लगातार सराहना भी कर रहे हैं। 

 संस्था के अध्यक्ष कुमुद रंजन सामंतराय ने बताया कि जन मानस में सतगुण बढ़ाने व सकारात्मक ऊर्जा और प्रकृति के प्रकोप से लोगों को बचाने के लिये विश्व शांति पाठ का आयोजन किया गया है। बताया कि पूरी सृष्टि पंच तत्व से बनी हुई है और पंच तत्व ग्रहो के आधीन है। इस लिए प्रकृति के प्रकोप जैसे बाढ़ आपदा भूस्खलन जैसे विभिन्न आपदाओं को रोकने के लिए 111 वैदिक पंडित 4 वेदों का पाठ , ग्रहो के रंग के अनुसार वस्त्र पहना कर विधि विधान से पाठ ,रुद्राभिषेक ,यज्ञ आदि कर रहे है। आचार्य प्रसन्न महाराज ( सामवेदी ) ने बताया कि संस्था देश विदेश में लगातार वैदिक चीजो को एकाग्रित कर  प्रचार प्रसार करने में लगी है साथ ही विश्व शांति के लिए नवग्रहों तथा विलुप्त हो चुके भारतीय परम्परा के पूजा पाठ  जैसे सोमायज्ञ, अतिरूद्र महायज्ञ, सहस्त्र चंडी महायज्ञ, पंचभूत महायज्ञ, अद्भुत विश्व शांति महायज्ञ, प्रजनी सुक्त महायज्ञ  जैसे विभिन्न तरह के पाठ पूजा कराती रहती है व सुख शांति भाई चारा व लोगों के व्यापार वृद्धि के लिए लगातार छोटे बड़े अनुश्ठान भी किये जाते है। उन्होंने लोगों से ऐसे कार्यक्रम में भाग लेकर पुण्य का भागी बनने की अपील भी की है। मौके पर सचिव निहार रंजन सामंतराय , सुविक्षा सामंतराय, संजय कुमार सारंगी,  आचार्य अंकित भारद्वाज, आचार्य पं. विवेक चमोली आदि मौजूद रहे।

Share To:

Post A Comment: