देहरादून/समाचार भास्कर - अनाधिकृत संस्थाओं , कंपनियों द्वारा किए जाने वाले आर्थिक धोखाधड़ी अपराधों से निपटने के लिए उत्तराखंड पुलिस राज्य के विभिन्न जनपदों के उपनिरीक्षक व पुलिस उपाधीक्षक स्तर के अधिकारियों के लिए भारतीय रिजर्व बैंक देहरादून द्वारा एक संवेदीकरण कार्यशाला का आयोजन किया गया जिसका उद्घाटन अशोक कुमार (आईपीएस) ,डीजी लॉ एंड ऑर्डर ने रिबन काट कर किया ।


कार्यशाला में अपने संबोधन में डीजे अशोक कुमार ने कहा कि पुलिस अधिकारिक आर्थिक अपराधों को दूसरे क्रिमिनल अपराधों के समान ही महत्व दें और न केवल अपराधियों को कानूनी यथोचित सजा दिलाएं साथ ही जनता को उनके खोए हुए पैसे लौटावाने की ओर काम भी करें ताकि जनता को लाभ हो और पुलिस पर विश्वास भी बढ़े । इस अवसर पर श्रीमती रिधिम अग्रवाल , पुलिस उपमहानिरीक्षक एसटीएफ राजेश कुमार ,क्षेत्रीय निदेशक भारतीय रिजर्व बैंक श्रीमती तारिका सिंह ,उप महाप्रबंधक भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा सभी प्रतिभागियों को संबोधित किया गया । प्रतिभागियों को आरबीआई एक्ट यूपीआईडी एक्ट एवं अन्य विषयों से संबंधित कानूनी प्रावधानों की जानकारी श्री बी. बोहरा उप विधि परामर्शदाता , भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा दी गई ।
तथा उनके प्रश्नों एवं समस्याओं का स्पष्टीकरण भी किया गया संवेदीकरण कार्यशाला के अंत में श्री अमित सिंह नेगी वित्त सचिव उत्तराखंड सरकार ने सभी पुलिस अधिकारियों को लगातार अपनी जानकारी को अद्यतन करने तथा ऐसे आर्थिक अपराधों को तीव्रता और प्रभावशाली तरीके से डील करने के लिए कहा ताकि ऐसे अपराधों को सही व सुनिश्चित तरीके से रोका जा सके ।

Share To:

Post A Comment: